Call Now Whatsapp Call Back

जोड़ों में दर्द का कारण, लक्षण और उपचार | Joint pain in hindi

joint pain in hindi
Share

जोड़ शरीर के महत्वपूर्ण अंग हैं जो हमारे दैनिक जीवन की गतिविधियां जैसे कि उठना, बैठना, सोना, चलना आदि में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। लेकिन कई बार कुछ स्थितियों के कारण जब शरीर के जोड़ जैसे कि कोहनी, घुटना, टखना, कंधा, कूल्हा आदि में दर्द होता है तो हमें अपने दैनिक जीवन के कामों को पूरा करने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

आमतौर पर बूढ़े लोगों में जोड़ों के दर्द की शिकायत होती है, लेकिन चोट, मोच या किसी बीमारी के कारण यह बच्चों या जवान लोगों में भी देखने को मिल सकता है। आइए, इस ब्लॉग में हम जोड़ों में दर्द के कारण, लक्षण और उपचार के बारे में विस्तार से जानने की कोशिश करते हैं।

जोड़ों में दर्द का कारण

जोड़ों में दर्द के अनेक कारण हो सकते हैं जिसमें गठिया, बर्साइटिस और मांसपेशियों में दर्द आदि। जोड़ों में दर्द के मुख्य कारणों में निम्न शामिल हो सकते हैं:

  • गाउट
  • वायरस के कारण संक्रमण होना
  • चोट जैसे कि फ्रैक्चर
  • ऑस्टियोआर्थराइटिस (हड्डियों का संक्रमण)
  • सेप्टिक गठिया (जोड़ों का संक्रमण)
  • ऐंठन या मोच
  • रूमेटाइड गठिया और ल्युपर जैसी ऑटोइम्यून बीमारियां
  • टेंडनाइटीस जिसमें मांसपेशियों और हड्डियों को जोड़ने वाले उत्तकों में सूजन आ जाती है
  • बर्साइटिस जिससे पीड़ित मरीज के जोड़न में स्थित तरलयुक्त थैली में सूजन आ जाती है
  • कॉनड्रोमालाशिया पेटलै जिसमें घुटनों के भीतर स्थिति कार्टिलेज का क्षरण होने लगता है

जोड़ों में दर्द के लक्षण

आमतौर पर जोड़ों में दर्द और गठिया के लक्षण लगभग एक जैसे हो सकते हैं। उदाहरण के तौर पर, इन दोनों स्थितियों में निम्न लक्षणों को अनुभव किया जा सकता है:

  • लालिमा
  • अकड़न
  • जोड़ों में दर्द
  • जोड़ों की गतिशीलता की क्षमता में कमी

गठिया होने पर आप दूसरे भी लक्षणों को अनुभव कर सकते हैं जैसे कि जोड़ों में सूजन आदि। हालाँकि, ये लक्षण अन्य अंतर्निहित स्थितियां जैसे कि ल्यूपस, सोरायसिस, गाउट या कुछ संक्रमण के कारण भी हो सकते हैं जिसकी पुष्टि जाँच के बाद होती है।

जोड़ों में दर्द का उपचार

जोड़ों में दर्द का उपचार उसके कारण, प्रकार, गंभीरता और मरीज की उम्र एवं समग्र स्वास्थ्य पर निर्भर करता है। अगर जोड़ों में दर्द का कारण चोट है तो शुरुआती उपचार के तौर पर डॉक्टर आराम करने का सुझाव और सूजन के लिए कुछ दवाएं निर्धारित करते हैं।

दर्द को नियंत्रित करने के लिए दर्द निवारक या दूसरी दवाओं की आवश्यकता हो सकती है। साथ ही, शारीरिक चिकित्सा की भी जरूरत पड़ सकती है। इन सबके अलावा, जोड़ों के दर्द का इलाज करने के लिए डॉक्टर निम्न का इस्तेमाल कर सकते हैं:

  1. दर्द निवारक: जोड़ों के दर्द को कम करने के लिए डॉक्टर दर्द निवारक दवा, स्प्रे या क्रीम का सुझाव देते हैं।
  2. एंटीबायोटिक्स: जब जोड़ों के दर्द का कारण संक्रमण होता है तो डॉक्टर एंटीबायोटिक्स निर्धारित करते हैं।
  3. कॉर्टिकोस्टेरॉइड: गठिया या स्व-प्रतिरक्षित स्थितियों में कॉर्टिकोस्टेरॉइड का इस्तेमाल किया जाता है। इससे सूजन कम और प्रतिरक्षा प्रणाली धीमी होती है।
  4. जीवनशैली में परिवर्तन: स्वस्थ आहार लेना, पर्यपत मात्रा में पानी पीना, नियमित रूप से व्यायाम करना और अपना वजन सामान्य बनाए रखना जैसी आदतों में जीवनशैली में लाने से जोड़ों के दर्द के साथ-साथ दूसरी भी समस्याओं से राहत मिलती है।
  5. सप्लीमेंट्स: गाउट के कारण जोड़ों में दर्द होने पर डॉक्टर सप्लीमेंट्स का सुझाव देते हैं। इससे शरीर में कैल्शियम और विटामिन डी की खुराक पूरी होती है जो हड्डियों के नुकसान को रोकता है।
  6. थेरेपी: जोड़ों के दर्द में थेरेपी भी काफी फायदेमंद साबित होता है। इसमें जल थेरपी और गर्म व ठंडा फोमेंटेशन थेरेपी का इस्तेमाल शामिल है।
  7. चिकित्सा उपकरण: जोड़ों की गतिशीलता में सुधार करने के लिए चिकित्सा उपकरणों जैसे कि स्प्लिन्ट्स, ब्रेसेस, बैसाखी या व्हीलचेयर का उपयोग किया जाता है।
  8. सर्जिकल थेरेपी: इस प्रक्रिया के दौरान जोड़ों के दर्द को दूर करने और उसकी गतिशीलता को बढ़ाने के लिए कृत्रिम जोड़ों का प्रतिस्थापन किया जाता है।

आपके जोड़ों के दर्द के लिए सटीक उपचार क्या है – इस बात की पुष्टि जोड़ों के दर्द का निदान करने के बाद होती है।

निष्कर्ष

जोड़ें शरीर का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं जिनकी गतिशीलता हमारे दैनिक जीवन की गतिविधियों को आसान और आरामदायक बनाती हैं। लेकिन अनेक कारण जैसे कि चोट, संक्रमण या बीमारी के कारण जोड़ों में दर्द की शिकायत हो सकती है।

जोड़ों में दर्द होने पर आपका चलना, फिरना, उठना, बैठना या दैनिक जीवन के कामों को करना मुश्किल हो सकता है। इस स्थिति में आपको जल्द से जल्द डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। डॉक्टर कुछ जांच की मदद से जोड़ों में दर्द के सटीक कारन का पता लगा सकते हैं।

उसके बाद, उचित उपचार से इसे दूर कर सकते हैं। जोड़ों में दर्द का उपचार कई तरह से किया जाता है। आमतौर पर जोड़ों में दर्द की समस्या को दूर करने के डॉक्टर दर्द के कारण, प्रकार, गंभीरता और मरीज की उम्र एवं संपूर्ण स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए उपचार के प्रकार का चयन कर इलाज की प्रक्रिया शुरू करते हैं।

Do you have a question?

    Get in touch with us



    Get in touch with us

    Call Now