Call Now Whatsapp Call Back

क्यों एक प्रेग्नेंट महिला को मॉर्निंग सिकनेस होती हैं?

मॉर्निंग सिकनेस को ऐसे करे दूर
Share

एक महिला के लिए गर्भ धारण करना, उसको एक सम्पूर्ण महिला होने का एहसास कराती हैं। जहाँ गर्भ धारण करना एक सुखद एहसास होता हैं, वही गर्भावस्था से जुड़ि कई ऐसी परिस्थिति हैं जिनसे महिलाओ को गुजरना पड़ता हैं, उनमे से एक हैं मॉर्निंग सिकनेस (morning sickness)।  मॉर्निंग सिकनेस गर्भावस्था का एक सामान्य लक्षण है और इसमें कभी-कभी जी मचलना या उल्टी होना शामिल हैं। प्रेगनेंसी के दौरान यह समस्या दिन के किसी भी समय असुविधा पैदा कर सकता है।

यह आमतौर पर गर्भावस्था के पहले चार महीनों के भीतर होती है, और अक्सर यह पहला संकेत है कि आप गर्भवती है।

इस ब्लॉग के माधयम से डॉ दीपिका अग्रवाल, ऑब्स्टट्रिशन एंड गयनेकोलॉजिस्ट- सी के बिरला हॉस्पिटल गुडगाँव, मॉर्निंग सिकनेस सी जुड़े कारण, लक्षण और टेस्ट्स बताएंगी, साथ ही साथ ऐसे कौनसे नेचुरल टिप्स से जिनसे आप मॉर्निंग सिकनेस दूर कर सकते है।

मॉर्निंग सिकनेस के क्या लक्षण होते हैं? (symptoms of morning sickness in Hindi)

इसके सामान्य लक्षणों जी मचलना और उल्टी शामिल है, जो अक्सर महक, मसालेदार भोजन, और गर्मी से होती है। पहली तीन महीनो के दौरान प्रेगनेंसी मॉर्निंग सिकनेस आम है और अधिकतर गर्भाधान के नौ सप्ताह बाद शुरू होती है। लगभग सातवे माह के मध्य से अंत तक अधिकांश गर्भवती महिलाओ में इसके लक्षणों में सुधार होता है।

मॉर्निंग सिकनेस के क्या कारण होते हैं? (causes of morning sickness in Hindi)

गर्भावस्था के दौरान मॉर्निंग सिकनेस का कोई एक ख़ास कारण नहीं होता है और हर महिला में इसकी गंभीरता अलग-अलग होती है। हम यह कह सकते हैं कि, गर्भावस्था में बढ़ा हुआ हार्मोन का स्तर सबसे आम कारणों में से एक है। घटा हुआ ब्लड शुगर लेवल भी इसका और आम कारण है।

कुछ अन्य कारण यह भी हो सकते हैं:

  • गर्भ में जुड़वाँ बच्चे होना
  • भावनात्मक तनाव
  • अत्यधिक थकान
  • बार-बार यात्रा करना

आपकी हर गर्भधारण में होने वाले सिकनेस भी अलग-अलग हो सकते है। 

मॉर्निंग सिकनेस के लिए आपको कब डॉक्टर से मिलने कि जरुरत हैं? (when to meet doctor for morning sickness in Hindi)

आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए, अगर-

  • जी मचलना या उल्टी बार बार हो रही हैं
  • पेशाब कि मात्रा कम और उसका रंग गहरा हैं 
  • खड़े होने पर आपको चक्कर आते हैं 
  • आपको बेहोशी महसूस होती है
  • आपको घबराहट महसूस होती हैं 

मॉर्निंग सिकनेस के लिए क्या-क्या टेस्ट होते हैं? (tests for morning sickness in Hindi)

आपके लक्षणों के आधार पर, आपका डॉक्टर आपको कुछ टेस्ट करने का सुझाव दे सकता हैं,  जैसे कि-

  1. पेशाब परीक्षण– पेशाब परीक्षण यह निर्धारित करता कि आप डीहाइड्रेटेड तो नहीं हैं। 
  2. रक्त परीक्षण- आपका डॉक्टर रक्त रसायन परीक्षण का सुझाव दे सकता है जिसमें शामिल हैं:
  • पूर्ण रक्त गणना (सीबीसी)
  • कम्प्रेहैन्सिव मेटाबोलिक पैनल    
  • आपके रक्त में इलेक्ट्रोलाइट्स को मापने के लिए कम्प्रेहैन्सिव मेटाबोलिक पैनल (Chem-20)

ये सरे टेस्ट निर्धारित करेंगे कि आप कही निम्न चीजों से पीड़ित तो नहीं हैं:

  • डिहाइड्रेशन 
  • विटामिन में कमी
  • ऎनेमिक

मॉर्निंग सिकनेस को नेचुरल तरीके से कैसे दूर करे? (natural ways to cure morning sickness in Hindi)

इन नेचुरल टिप्स से दूर करें मॉर्निंग सिकनेस-

  • शारीरिक और मानसिक रूप से सक्रिय रहें
  • किसी भी प्रकार कि महक से दूरी बनाएं (जैसे सिगरेट का धुआं और इत्र)
  • अदरक का सेवन करे 
  • मसालेदार और वसायुक्त भोजन से बचें
  • अच्छी नींद ले 
  • बहुत सारा पानी पीये

निष्कर्ष 

वैसे तो मॉर्निंग सिकनेस को पूरी तरह से रोकने का कोई तरीका नहीं हैं, लकिन इसके कारणो से बचने से आप  इसको काम कर सकते हैं।  यदि आप प्रेगनेंसी या उस से जुड़ि कोई अधिक जानकारी चाहते हैं या प्रेगनेंसी से जुड़ि परेशानियों का हल चाहते हैं तो आज ही अपॉइंटमेंट बुक करे या हमे +91 124 4570112 नंबर पर कॉल करे। 

FAQs

प्रश्न-गर्भवती होने के क्या संकेत हैं?

उत्तर- ऐसे बहुत सी संकेत हैं जिनसे पता लगाया जा सकता हैं कि आप प्रेग्नेंट हैं या नहीं-

  • यदि आपको पीरियड्स नहीं आये 
  • ब्रैस्ट में सूजन 
  • जी मचलना 
  • बार बार पेशाब के लिए जाना 
  • थकावट महसूस होना 

प्रश्न-क्या मुझे बिना उल्टी के मॉर्निंग सिकनेस हो सकती है?

उत्तर- हालांकि ‘मॉर्निंग सिकनेस’ में जी मचलना (उल्टी के साथ या बिना) दिन के किसी भी समय हो सकती है। कई महिलाओ में मॉर्निंग सिकनेस के  अलग-अलग लक्षण होते हैं जैसे कि जी मचलना, उल्टी, और थकावट महसूस होना। 

प्रश्न-मैं कब प्रेगनेंसी टेस्ट करवाऊं?

उत्तर- सबसे सटीक परिणाम के लिए आपको पीरियड्स छूटने के लगभग एक सप्ताह बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करना चाहिए।  

प्रश्न-आपको प्रेगनेंसी पॉजिटिव होने के बाद कितनी जल्दी मॉर्निंग सिकनेस हो सकती है?

उत्तर- गर्भावस्था में दो सप्ताह के शुरू में आपको जी मचलना जैसे लक्षण हो सकते है या यह गर्भधारण के कुछ महीनों बाद शुरू हो सकते है। हर महिला को जी मचलना का अनुभव नहीं होता है और प्रेगनेंसी में जी मचलना के विभिन्न स्तर होते हैं।

प्रश्न-मॉर्निंग सिकनेस के लिए मुझे क्या खाना चाहिए?

उत्तर- यदि आपको मॉर्निंग सिकनेस हो रही हैं तो आप ऐसा खाना खाये जिसमे मसाले काम हो और जिसे खाने से आपको जी मचलने या उलटी जैसा महसूस ना हो-

  • उबली हुई या ताजी सब्जियां
  • सूप
  • टोस्ट
  • पनीर
  • जेली और कस्टर्ड
  • चावल
  • पास्ता या नूडल्स

Do you have a question?

    Up to 100% off on Doctor Consultation & Mammography



    Up to 100% off on Doctor Consultation & Mammography

    Call Now