Call Now Whatsapp Call Back

थायराइड क्या है – कारण, लक्षण और घरेलू उपचार (Home Remedies For Thyroid in Hindi)

थायराइड-क्या-है-कारण-लक्षण-और-घरेलू-उपचार
Share

थायराइड क्या है (Thyroid in Hindi)

थायराइड गर्दन के निचले हिस्से में स्थित है एक तितली के आकार की ग्रंथि है। यह ट्राईआयोडोथायरोनिन (टी 3) और थायरोक्सिन (टी4) हार्मोन को स्रावित करता है। इसे थायराइड हार्मोन कहते हैं।

यह हार्मोन शरीर की अनेक गतिविधियों को नियंत्रित करता है जिसमें दिल की धड़कन और कैलरी की खपत को कंट्रोल करना शामिल है। जब थायराइड ग्रंथि जरूरत से कम या ज्यादा मात्रा में हार्मोन का निर्माण करता है तो थायराइड से जुडी समस्याएं पैदा होती हैं।

थायराइड कैसे होता है (Causes of Thyroid in Hindi)

थायराइड कई कारणों से हो सकता है। इसके मुख्य कारणों में निम्न शामिल हैं:-

  • अत्यधिक सोया प्रोटीन, कैप्सूल और पाउडर का सेवन
  • कुछ खास तरह की दवाओं का साइड इफेक्ट्स 
  • अधिक तनाव लेना
  • आयोडीन की कमी या अधिकता
  • शराब और सिगरेट का सेवन
  • आनुवंशिकी
  • प्रेगनेंसी

इसके अलावा, थायरॉइड के दूसरे भी अन्य कारण हो सकते हैं जैसे कि हाशिमोटो रोग और ग्वाइटर रोग आदि से पीड़ित होना।

थायराइड के लक्षण (Symptoms of Thyroid in Hindi)

थायराइड के लक्षण इसके प्रकार के आधार पर भिन्न हो सकते हैं। हाइपरथायरायडिज्म के निम्न लक्षण हो सकते हैं:-

  • वजन कम होना
  • घबराहट होना
  • मूड बदलना
  • घेंघा
  • सांस फूलना
  • गर्मी लगना
  • नींद कम आना
  • चिंता और परेशानी होना
  • दिल की धड़कन तेज होना
  • अधिक प्यास लगना
  • आंखों में लालपन और सुखानपान

हाइपोथायरायडिज्म के लक्षण:-

  • वजन बढ़ना
  • थकान महसूस होना
  • बालों का झड़ना
  • अधिक ठंड लगना
  • डिप्रेशन
  • गला बैठना
  • मानसिक तनाव होना
  • मांसपेशियों में अकड़न
  • नाखून और बालों का कमजोर होना
  • त्वचा का रूखा और कमजोर होना

थायराइड की जांच (Diagnosis of Thyroid in Hindi)

थायराइड का निदान करने के लिए डॉक्टर कुछ जांच का सुझाव देते हैं जिनमें निम्न शामिल हो सकते हैं:-

  • ब्लड टेस्ट करके टीएसएच, टी 3 और टी 4 के स्तर की पुष्टि 
  • थायराइड ग्रंथि द्वारा आयोडीन के इस्तेमाल की न्यूक्लियर इमेजिंग
  • ग्रंथि पर किसी असामान्य गांठ की बायोप्सी
  • नेत्र परीक्षण
  • थायराइड ग्रंथि का अल्ट्रासाउंड

नैदानिक परीक्षणों के परिणामों के आधार पर डॉक्टर उपचार की प्रक्रिया का चयन करते हैं। उसके बाद, इलाज की प्रक्रिया शुरू होती है।

थायराइड का घरेलू उपचार (Home Remedies For Thyroid in Hindi)

थायराइड का उपचार कई तरह से किया जाता है जिसमें एंटी-थायराइड गोलियां, लेवोथायरोसिन, रेडियोएक्टिव आयोडीन, सर्जरी और घरेलू नुस्खे आदि शामिल हैं। इस ब्लॉग में हम थायराइड के घरेलू उपचार के बारे में विस्तार से बात करने वाले हैं।

थायराइड के घरेलू नुस्खों में निम्न शामिल हैं:-

  • अश्वगंधा

रात में सोने से पहले एक गिलास गाय के दूध में एक चम्मच अश्वगंधा चूर्ण मिलाकर उसका सेवन करें। अश्वगंधा की पत्तियों या जड़ को पानी में उबालकर भी उसका सेवन किया जा सकता है।

  • तुलसी

तुलसी थायराइड में बहुत फायदेमंद साबित होता है। दो चम्मच तुलसी के रस में आधा चम्मच एलोवेरा जूस मिलाकर उसका सेवन करें।

  • हरी धनिया

हरी धनिया की पत्तियों को पीसकर उसे एक गिलास पानी में मिलाएं और फिर उसका सेवन करें।

  • त्रिफला चूर्ण

रोजाना एक चम्मच त्रिफला चूर्ण का सेवन करने से थायराइड में आराम मिलता है।

  • हल्दी

हल्दी में ढेरों औषधीय गुण पाए जाते हैं और यही कारण है कि इसका इस्तेमाल अनेक समस्याओं का उपचार करने के लिए किया जाता है।

रात में सोने से पहले एक गिलास दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर पीने से थायराइड में फायदा होता है।

  • लौकी

लौकी थायराइड को दूर करने में मदद कर सकता है। सुबह खाली पेट लौकी का जूस पीएं।

  • अलसी का चूर्ण

अलसी में पर्याप्त मात्रा में ओमेगा 3 पाया जाता है जो थायराइड में आराम पहुंचाता है।

इन सबके अलावा, नारियल का तेल, अदरक, शिग्रु पत्र, कांचनार, पुनर्नवा का काढ़ा और काली मिर्च का इस्तेमाल भी थायराइड में फायदेमंद होता है।

डॉक्टर से कब मिलें (When to See Doctor)

थायराइड की समस्या गंभीर होने या ऊपर दिए गए घरेलु नुस्खों से फायदे नहीं होने पर आपको तुरंत डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। साथ ही, आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आप बिना डॉक्टर की सलाह के थायराइड का इलाज करने की नियत से किसी भी घरेलू नुस्खे का इस्तेमाल न करें।

थायराइड से कैसे बचें (How to Prevent Thyroid in Hindi)

कुछ सावधानियां बरतकर थायराइड से बचा जा सकता है। अगर आप थायराइड के खतरे को दूर करना चाहते हैं तो निम्न बिंदुओं का पालन करना चाहिए:-

  • नियमित रूप से व्यायाम करें
  • योग और मेडिटेशन करें
  • सुबह सेब के सिरके का सेवन करें
  • रात में सोने से पहले दूध में हल्दी मिलाकर पिएं
  • दिनभर में कुछ समय के लिए धूप में बैठें
  • नारियल तेल में खाना बनाएं
  • 7-8 घंटे की नींद लें
  • ठंडा-गरम एक साथ खाने से बचें
  • सिगरेट और शराब का सेवन सीमित या बंद करें

इन सबके अलावा, अगर आप थायराइड के लक्षणों को खुद में अनुभव करते हैं या आपको इस बात की शंका है कि आपको थायराइड है तो तुरंत डॉक्टर परामर्श करें।

थायराइड में क्या खाना चाहिए (Foods to Eat in Thyroid)

थायराइड होने पर कुछ खानपान की चीजों का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है। अगर आपको थायराइड है तो आप निम्न को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं:-

  • अलसी
  • नारियल
  • दालचीनी
  • मुलेठी
  • मशरूम
  • धनिया
  • हल्दी दूध
  • त्रिफला चूर्ण
  • टमाटर

थायराइड में क्या नहीं खाना चाहिए (Foods to Avoid in Thyroid)

थायराइड होने पर आपको कुछ चीजों के सेवन से बचना चाहिए, क्योंकि ये आपकी स्थिति को और बिगाड़ सकते हैं जैसे कि:-

  • चीनी
  • सफेद चावल 
  • केक
  • कुकीज
  • ऑयली फूड
  • सॉफ्ट ड्रिंक्स
  • मसालेदार चीजें
  • मैदा से बनी चीजें
  • चाय और कॉफी
  • मलाई और मिठाई
  • चावल और सफेद नमक

Do you have a question?

    Up to 100% off on Doctor Consultation & Mammography



    Up to 100% off on Doctor Consultation & Mammography

    Call Now